Dard Shayari, Tu nahi to ye

तू नहीं तो ये नज़ारा भी बुरा लगता है..
चाँद के पास सितारा भी बुरा लगता है..
ला के जिस रोज़ से छोड़ा है तुने भवँर में मुझको..
मुझको दरिया का किनारा भी बुरा लगता है..

Sad Shayari, Silsila ulfat ka

सिलसिला उल्फत का चलता ही रह गया,
दिल चाह में दिलबर के मचलता ही रह गया,
कुछ देर को जल के शमां खामोश हो गई,
परवाना मगर सदियों तक जलता ही रह गया..!!

Bewafa Shayari, Raat ki gehrai

रात की गहराई आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई|

Sad Shayari, Insaao ke kadhe per

इंसानों के कंधे पर इंसान जा रहे हैं,
कफ़न में लिपट कर कुछ अरमान जा रहे हैं,
जिन्हें मिली मोहब्बत में बेवफ़ाई,
वफ़ा की तलाश में वो कब्रिस्तान जा रहे हैं।

Sad Shayari, Unse Milne Ko Jo Socho

उनसे मिलने को जो सोचों अब वो ज़माना नहीं,
घर भी कैसे जाऊं अब तो कोई बहाना नहीं,
मुझे याद रखना कहीं तुम भुला न देना,
माना के बरसों से तेरी गली में आना-जाना नहीं।

Unse Milne Ko Jo Socho Ab Wo Zamana Nahi,
Ghar Bhi Kaise Jaun Ab To Koi Bahana Nahi,
Mujhe Yaad Rakhna Kahi Tum Bhula Na Dena,
Mana Ke Barson Se Teri Gali Me Aana-Jana Nahi.

Dard Shayari, Mujhko Aisa Dard Mila

मुझको ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं,
फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई गिला नहीं,
और कितने आंसू बहाऊँ उस के लिए,
जिसको खुदा ने मेरे नसीब में लिखा ही नहीं।

Mujhko Aisa Dard Mila Jiski Dawa Nahi..
Phir Bhi Khush Hun Mujhe Us Se Koi Gila Nahi..
Aur Kitne Aansu Bahaun Ab Us Ke Liye..
Jisko Khuda Ne Mere Naseeb Main Likha Hi Nahi.